Home » Ajab Gajab » पत्नियों से पीडि़त पतियों के लिए आश्रम

पत्नियों से पीडि़त पतियों के लिए आश्रम

पत्नियों से पीडि़त पतियों के लिए आश्रम

आैरंगाबाद: पत्नियों से पीडि़त पतियों के लिए आश्रम खुला है यह आश्रम आैरंगाबाद से करीब 12 किमी दूर है। इस आश्रम में सिर्फ वही लोग आते हैं जो पत्नी से पीड़ित हैं।  आश्रम के फाउंडर भारत फुलारे खुद भीपत्‍नी के सताए हुए हैं। उनका कहना है कि पत्नी ने उनके खिलाफ 147 केस कर रखे हैं। 19 नवंबर 2016 को पुरुष अधिकार दिवस के अवसर पर आश्रम को शुरू किया गया था।

अब तक देश भर से यहां पर 500 से ज्यादा लोग काउंसलिंग के लिए आ चुके हैं और कुछ लोग तो यहां रहते भी हैं। हालांकि आश्रम में रहने के लिए एक शर्त है जिसके मुताबिक यहां पर वही पति रह सकता है जिस पर उसकी पत्नी ने कम से कम 20 मामले दर्ज किए हों।

यह आश्रम करीब 1200 वर्गफीट की जगह में बना है और इस आश्रम में तीन कमरे हैं। यहां हर शनिवार आैर रविवार को पत्नी पीड़ितों की काउंसलिंग की जाती है। आश्रम में रहने वाले पुरुष पैसे जमा कर यहां का खर्चा उठाते हैं आैर खाना बनाने से लेकर हर काम स्वयं ही करते हैं।

इस आश्रम में भारत फुलारे केस स्टडी करते हैं आैर केस की कमजोर कड़ी का पता लगाते हैं। इसके साथ ही मामलों के लिए कानूनी विशेषज्ञों की सलाह भी ली जाती है। भारत फुलारे का कहना है कि खुद के केस के लिए उन्हें कुछ महीनों तक शहर के बाहर रहना पड़ा। इसी दौरान तीन लोग आैर मिले जो पत्नी पीड़ित थे। इसी के बाद आश्रम बनाने का ख्याल आया।

यहां रहने वालों का कहना है कि मादा कौआ अंडा देकर उड़ जाती है आैर नर कौआ ही चूजों का पालन पोषण करता है। ये स्थिति एक पत्नी पीड़ित पति से मिलती है। इसलिए आश्रम में कौआ पूजा जाता है।

Check Also

अपने ही बेटे से की शादी और अब बनने वाली है उसकी माँ

अपने ही बेटे से की शादी और अब बनने वाली है उसकी माँ

कभी आप ने सुना है की किसी माँ ने अपने ही बेटे से शादी की …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *