Home » Education » NIT में दाखिले के लिए 12वीं में 75 प्रतिशत अंक होंगे अनिवार्य

NIT में दाखिले के लिए 12वीं में 75 प्रतिशत अंक होंगे अनिवार्य

कर्नाटक TET 2019 परीक्षा के प्रवेश पत्र जारी किये गए
PC: Source

नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलाजी (एनआईटी)  में नए सत्र में दाखिले की रेस में एडमिशन पाना मुश्किल होगा। क्योंकि इसी सत्र से एनआईटी में दाखिला लेने वाले छात्रों के 12वीं कक्षा में 75 फीसदी मॉर्क्स का नियम लागू होने जा रहा है।

वहीं, सीबीएसई सहित देशभर के शिक्षा बोर्ड में मॉडरेशन मॉर्क्स खत्म होने से एक-एक सीट पर कई दावेदार होंगे। छात्र सीट ब्लॉक करने की मनमानी नहीं कर सकेंगे क्योंकि इस बार दो स्पेशल राउंड काउंसलिंग होंगे । क्योंकि यदि कोई छात्र दाखिला लेने के बाद स्पेशल राउंड काउंसलिंग की सीट छोड़ते हैं तो दाखिला फीस में से आधी राशि जुर्माने के रूप में काट ली जाएगी।

वरिष्ठ अधिकारियों के मुताबिक, आईआईटी की तर्ज पर ही देशभर के 31 एनआईटी (कुल 18013 सीट) में भी बीटेक प्रोग्राम में जेईई एग्जाम पास  करने के बाद ही दाखिला मिलता है लेकिन 12वीं कक्षा के वेटेज में अंतर था। एनआईटी प्रबंधन भी आईआईटी की तर्ज पर 12वीं कक्षा में वेटेज चाहता था, इसीलिए 40 फीसदी से वेटेज बढ़ाते हुए उसे 75 मॉर्क्स (सामान्य वर्ग)तक कर दिया था। जबकि आरक्षित वर्ग के लिए 70 पर्सेंट मॉर्क्स जरूरी होंगे।

इससे उन छात्रों को नुकसान होगा, जोकि मनपसंद कोर्स या इंस्टीट्यूट में एडमिशन के लिए पहले सीट ब्लॉक कर लेते थे और बाद में सीट छोड़ देते थे। हालांकि अब छात्रों के पास सीट ब्लॉक करने का अधिकार नहीं होगा।  इस योजना से सीट ब्लॉक करने वाले स्टडेंट्स को नुकसान होगा तो, वहीं उन छात्रों का लाभ मिलेगा, जो जेईई मेन में अच्छा स्कोर हासिल नहीं कर पाते थे और सीट ब्लॉक के चलते वेटिंग लिस्ट में सबसे निचले पायदान पर रहते थे। अब ऐसे छात्रों को एनआईटी में सीट मिलने की संभावना बढ़ जाएगी। बता दें कि पिछले साल एनआईटी में करीब 1518 सीट खाली रह गई थी।

Check Also

कर्नाटक TET 2019 परीक्षा के प्रवेश पत्र जारी किये गए

कर्नाटक TET 2019 परीक्षा के प्रवेश पत्र जारी किये गए

कर्नाटक TET 2019 परीक्षा के प्रवेश पत्र जारी कर दिए गए हैं। एडमिट कार्ड केंद्रीयकृत …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *