Home » Health » डिहाइड्रेशन से बचना हो तो खूब पानी पियें

डिहाइड्रेशन से बचना हो तो खूब पानी पियें

शरीर में पानी की मात्रा कम होने पर कोई भी हो सकता है डिहाइड्रेशन का शिकार ।

मंगलवार 19 मार्च 2019 ,  मनुष्य के शरीर में पानी का बहुत महत्व है और सुचारु रूप से कार्य के लिए शरीर में इसके स्थिरता बनी रहनी चाहिए । शरीर में पानी का इस्तेमाल कई प्रकार से होता है । खाना खाने के बाद हम पानी पीते हैं ताकि हमारा खाना सही से हज़म हो सके और पेट में गैस इत्यादि से भी छुटकारा मिलता है । शरीर में दौड़ रहे रक्त में जो अशुद्धियाँ होती है वो इसी पानी में घुलकर मूत्र के रूप में बहार निकला जाता है ।

यदि शरीर का तापमान बढ़ता है तो उसे ठंडा करने के लिए पसीने के रूप में शरीर का पानी ही इस्तेमाल होता है । शरीर की अधिकतम बीमारियां पानी का सेवन करने से ही ठीक हो जाती हैं । सुबह खाली पेट 4 से 6 गिलास गरम पानी पीने से अतिरिक्त मोटापा से छुटकारा मिलता है ।

इसके विपरीत यदि शरीर में पानी की कमी हो तो रक्त में अशुद्धियों की मात्रा बढ़ने लगती है और अपच , गैस जैसे बीमारियां आसानी से पकड़ लेती हैं ।

कैसे पता करें पानी की कमी को ?

शरीर में पानी की कमी होते ही मुँह सूखने लगता है । पेशाब का रंग गाढ़ा और बदबूदार हो जाता है । थकान ज्यादा लगती है । सिर में भारीपन लगता है । अधिक दस्त या उलटी से भी शरीर में पानी की कमी होती है ।

क्या प्रभाव पड़ता है ?

डिहाइड्रेशन होने पर आप का शरीर इतना छतिग्रस्त हो सकता है कि आपको अस्पताल में ट्रीटमेंट के लिए भर्ती भी होना पद सकता है और हालत नियंत्रण न किया जाए तो जान भी जा सकती है ।

इलाज क्या है ?

डिहाइड्रेशन से बचने का इलाज पानी है और सिर्फ पानी । दिन भर में 8 गिलास पानी पीना चाहिए । हमारे शरीर की ज्यादातर अशुद्धियाँ पेशाब और पसीने के माध्यम से बहार निकली जाती हैं इसलिए जितना पानी पिया जाय उतना ही अच्छा है ।

Check Also

गर्भवती महिलाओं रहें सावधान, न करें ये सब

गर्भ में पल रहे बच्चे के साथ साथ स्वयं उस बच्चे को गर्भ में रखने …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *