Home » Health » पीलिया से बचाव के घरेलू इलाज

पीलिया से बचाव के घरेलू इलाज

पीलिया से बचाव के घरेलू इलाज

पीलिआ ( Jaundice ) रक्त में बिलीरुबिन ( bilirubin ) नामक पीले रंग के पदार्थ के कारण होता है बिलीरुबिन लिवर ( Liver ) द्वारा बनाया जाता है जो डेड रेड ब्लड सेल्स ( Dead red blood cells ) को साफ करने में सहायक होती है।  लिवर ( Liver )  द्वारा नियंत्रित बिलीरुबिन ( bilirubin ) का बनाना कभी कभी फेल हो जाता है जिससे ब्लड में इसके अधिकता हो जाती है।  इस बीमारी में शरीर पीला पद जाता है ऑंखें पीली पद जाती है ।

पीलिआ ( Jaundice ) से बचने के घरेलु उपचार

हल्दी ( TURMERIC ) – हल्दी में करक्यूमिन ( Curcumin ) नाम का तत्व पाया जाता है जो लिवर के लिए  विषहरण ( detoxification ) का काम करता है । करक्यूमिन  ( Curcumin ) लिवर को नुकसान पहुँचाने वाले अल्कोहल ( alcohol ) और हानिकारक तत्वों से बचाता है साथ में ये पीलिआ में काफी तेजी से राहत पहुंचता है ।

कैसे करें इसका इस्तेमाल –

1. १/३ चम्मच हल्दी ( turmeric ) पाउडर को एक गिलास गरम पानी में घोल लें और उसका सेवन करें  ऐसा दिन में २ – ३ बार करें ।
2. हल्के गर्म पानी में ताजा नींबू का जूस १ चम्मच शहद १ चम्मच हल्दी पाउडर मिलाकर रोज पियें ऐसा आपको कुछ सप्ताह के लिए लगातार करना है ।

गन्ना ( SUGARCANE ) – पिलिआ के होने पर शरीर में ग्लूकोज़ के मात्रा काफी कम हो जाती है ऐसे  स्थिति  में  गन्ने का जूस बहुत फायेदेमंद होता है । गन्ने में पाया जाना वाला ग्लूकोज़ बहुत ही आसानी से पचा लिया जाता है और इस वजह से ये पिलिआ को जल्दी ठीक करने में काफी असरदार साबित होता है ।

कैसे करें इसका इस्तेमाल –

ताजे गन्ने के जूस  में १/२ कटा नींबू निचोड़ लें और इसे मिला लें । दिन में ३-४ बार जूस का सेवन करें ।

नींबू  ( LEMON ) – नींबू  पिलिआ में एक अच्छी औषधि के तरह काम करती है । नींबू बिलीरुबिन को यूरिन  के माध्यम से शरीर से बाहर कर देती है । नींबू यकृत ( Liver ) को भी स्वस्थ रखता है ।

कैसे करें इस्तेमाल –

१/२ नींबू लें और उसे १ गिलास पानी में अच्छी तरह से निजोड़ लें और उसका सेवन करें ।

अदरक ( GINGER ) – अदरक में पाए जाने वाले विषरोधी तत्वों के कारण इस बीमारी में काफी लाभदायक है । यह यकृत ( लिवर ) को स्वस्थ रखने में काफी सहायक है ।

कैसे करें इस्तेमाल –

अदरक के कुछ कटे हुए टुकड़े लें और फिर उसका जूस निकाल लें फिर इस जूस में से १/२ चमच जूस लें और उसमे १ चमच मिंट का जूस,  १ चमच निम्बू का जूस, १ चमच शहद डालकर अच्छी तरह से मिलाएं । २-३ सप्ताह तक दिन में २ से ३ बार इस मिश्रण का सेवन करें ।

Check Also

दांतों की संवेदनशीलता

दांतों की संवेदनशीलता

दांतों की संवेदनशीलता (Tooth sensitivity ) : इस केस में कुछ भी खट्टा या मीठा खाने …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *