Home » Health » खतरनाक जीका वायरस ने भारत में दी दस्तक, ऐसे करें बचाव

खतरनाक जीका वायरस ने भारत में दी दस्तक, ऐसे करें बचाव

खतरनाक जीका वायरस ने भारत में दी दस्तक, ऐसे करें बचाव

विश्व स्वास्थ्य संगठन के अनुसार भारत में खतरनाक जीका वायरस ने दस्तक दी है । ये तीनों वायरस गुजरात के अहमदाबाद के बापूनगर में सामने आए हैं लेकिन राहत की बात यह है कि तीनों रोगी स्वस्थ हैं। डब्ल्यूएचओ के अनुसार 64 वर्षीय पुरुष, एक बच्चे को जन्म देने वाली 34 वर्षीय महिला और 22 वर्षीय महिला जीका वायरस से ग्रस्त पाये गये हैं।

यह सीधे नवजात को अपना शिकार बनाता है। इस वायरस से प्रभावित होने वाले बच्चे की सारी जिंदगी विशेष देखभाल करनी पड़ती है, क्‍योंकि विषाणुओं के प्रभाव से वहां के नवजात छोटे सिर के साथ पैदा हो रहे हैं।  दरअसल जीका वायरस से संक्रमित मादा एडीज द्वारा गर्भवती महिला के खून के माध्यम से यह वायरस गर्भस्थ शिशु की न्यूरल ट्यूब को संक्रमित करता है। और न्यूरल ट्यूब में मौजूद रेटिनोइस एसिड एक प्रकार का मैटाबोलिक विटामिन ए है, जो मस्तिष्क के आरंभिक विकास हेतु जिम्मेदार है।

जीका वायरस एंडीज इजिप्टी नामक मच्छर से फैलता है। यह वही मच्‍छर है जो पीला बुख़ार, डेंगू और चिकुनगुनिया जैसे विषाणुओं को फैलाने के लिए जिम्मेदार होती हैं। संक्रमित मां से यह नवजात में फैलती है। यह ब्लड ट्रांसफ्यूजन और यौन सम्बन्धों से भी फैलती है। हालांकि, अब तक यौन सम्बन्धों से इस विषाणु के प्रसार का केवल एक ही मामला सामने आया है। जीका को पहचानना बहुत मुश्किल है क्योंकि इसके कोई विशेष लक्षण नहीं हैं। लेकिन मच्छरों के काटने के तीन से बारह दिनों के बीच चार में से तीन व्यक्तियों में तेज बुखार, रैशेज, सिर दर्द और जोड़ों में दर्द के लक्षण देखे गये हैं।

Check Also

क्या आप जानते हैं किस अंग के लिए कौन सा फल या सब्ज़ियां प्रयोग करनी चाहिए ? आइये जानें ।

ईश्वर ने हर जीव के जीवन को सुचारु रूप से चलाने के लिए खाद्य पदार्थों …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *