Home » Health » क्या है चिकनगुनिया ? कैसे करें उपचार ? जानिए चिकनगुनिया से बचने के घरेलु नुस्खे

क्या है चिकनगुनिया ? कैसे करें उपचार ? जानिए चिकनगुनिया से बचने के घरेलु नुस्खे

क्या है चिकनगुनिया ? कैसे करें उपचार ? जानिए चिकनगुनिया से बचने के घरेलु नुस्खे

चिकनगुनिया का इन्फेक्शन चिकनगुनिया वायरस से होता है। चिकनगुनिया का वायरस दो प्रकार के मच्छरों के काटने से होता है जोकि दिन में काटते हैं ये मच्छर हैं –

1) Aedes albopictus
2) Aedes aegypti

इस बीमारी में बुखार के साथ जोड़ों में दर्द, मांसपेशियों में दर्द शरीर पर लाल लाल चक्कते पड़ जाते हैं। कभी कभी इस बीमारी में मरीज़ १ सप्ताह में ठीक हो जाता है। मगर जोड़ो का दर्द जाने में महीनों लग सकते हैं। चिकुनगुनिया के बीमारी में मरीज अपने आपको काफी कमजोर महसूस करता है ।

इस बीमारी में हड्डियों में काफी दर्द होता है । यह बीमारी महामारी के रूप में फैलती है । चिकनगुनिया के मच्छर साफ पानी में पनपते हैं । चिकनगुनिया से बचने के लिए सबसे अच्छा तरीका है मच्छरों से बचना । सोते समय मच्छरदानी का इस्तेमाल करें , मच्छर भगाने वाले औषधि का इस्तेमाल करें , और आस पास गन्दगी न होने दें ।

चिकनगुनिया से ग्रस्त होने पर ज्यादा से ज्यादा आराम और अधिक से अधिक तरल पदार्थों का सेवन करना चाहिए जैसे जूस इत्यादि । चिकनगुनिया जानलेवा नहीं है अगर सही तरह से देखभाल की जाये ।

घरेलु उपचार :

1. नारियल पानी

चिकनगुनिया में शरीर काफी कमजोर हो जाता है और शारारिक ऊर्जा काफी घट जाती है । नारियल पानी में कार्बोहायड्रेटस के प्रचुरता होती है जो शरीर के ऊर्जा को बनाये रखता है । नारियल पानी में पाया जाने वाला अल्कलीजिंग प्रभाव शरीर के स्वस्थ pH को बनाये रखता है जिससे डिहाइड्रेशन से बचा जा सकता है ।

२) आराम :

चिकनगुनिया की बीमारी में शारीरिक ऊर्जा बहुत घट जाती है इसलिए जरुरी है की ज्यादा से ज्यादा आराम करें इससे शरीर के दर्द से काफी रहत मिलती है ।

३) लहसुन :

लहसुन में पाया जाने वाला तत्व सल्फर और सेलेनियम जोड़ो के दर्द में काफी लाभकारी सिद्ध होता है । शीशम के तेल में लहसुन के २ फांक छिले हुए डालकर गरम करें और जब ये भूरे रंग के हो जाएँ तो बने हुए तेल को ठंडा करके जॉइंट्स पर मलें इससे जोड़ो के दर्द में काफी राहत मिलेगी । लहसुन का इस्तेमाल अपने खाने में भी करें ।

४) हल्दी :

हल्दी जलन और दर्द के अवस्था में काफी लाभकारी सिद्ध होता है । हल्दी पाउडर को गरम दूध में डालकर दिन में २ बार सेवन करने से काफी रहत मिलती है ।

५) अदरक :

अदरक में ब्लड सर्कुलेशन को दुरुस्त करने और इम्मुनो सिस्टम को बढ़ाने का गुड़ होता है । अदरक की चाय पीने से काफी आराम मिलता है दिन में काम से काम ३-४ बार चाय जरूर पियें ।

Check Also

क्या आप जानते हैं किस अंग के लिए कौन सा फल या सब्ज़ियां प्रयोग करनी चाहिए ? आइये जानें ।

ईश्वर ने हर जीव के जीवन को सुचारु रूप से चलाने के लिए खाद्य पदार्थों …

2 comments

  1. Appreciating the persistence you put into your blog and detailed
    information you provide. It’s great to come across
    a blog every once in a while that isn’t the same old rehashed information.
    Excellent read! I’ve bookmarked your site and I’m including your RSS feeds to my Google account.

  2. I’ve been exploring for a little bit for any high quality articles or blog posts on this sort of area .

    Exploring in Yahoo I at last stumbled upon this site. Studying this info So i’m satisfied to express that I’ve a very
    good uncanny feeling I came upon exactly what I needed.
    I so much no doubt will make certain to do not fail to
    remember this web site and give it a look regularly.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *