Home » India » क्या दीपावली पर लगेगा 22 घंटों का ग्रहण?

क्या दीपावली पर लगेगा 22 घंटों का ग्रहण?

हिन्दू त्योहारों की खुशिया हों या परिवार का सुख सभी क्षेत्र में लग रहा है ग्रहण ।

मंगलवार 23 अक्टूबर 2018, हिन्दू त्योहारों और परिवार से कानून को जैसे दिक्कत सी हो चली है । दशहरा में रावण जलाया जाय तो सुप्रीम कोर्ट को दिक्कत, दीपावली में पटाखें जलाये जाएँ तो सुप्रीम कोर्ट को दिक्कत, होली में रंग खेला जाय तो सुप्रीम कोर्ट को दिक्कत। त्योहारों को मनाने के लिए अब कानून द्वारा लगाने वाले ग्रहण को देखते हुए उत्सव को मानना पड़ेगा ।

सुप्रीम कोर्ट को लगता है हिन्दू त्यौहार में जलाये जाने वाले पटाखों से प्रदुषण होता है तो पंजाब और हरियाणा में जो खेतों में जल रहा है उससे क्या ऑक्सीजन निकलती है ? सुप्रीम कोर्ट ने पटाखों की बिक्री पर कोई रोक नहीं लगायी है किन्तु पटाखों को जलाये जाने का समय सीमा तय कर दी है ।

सुप्रीम कोर्ट ने तय की पटाखों को जलाने की अवधि   ।

सुप्रीम कोर्ट के आदेशानुसार दिवाली में सिर्फ 2 घंटे के लिए पटाखे जलने की अनुमति होगी । 2 घंटे के बाद पटाखों को जलाना निषेध है । पटाखे रात्रि 8 बजे से लेकर रात्रि के 10 बजे तक ही जलाये जा सकेंगे ।

आने वाले नववर्ष की रात्रि को जलाये जाने के लिए भी समय सीमा तय की गयी है । नववर्ष के उत्सव में जलाये जाने वाले पटाखों की समय सीमा होगी रात्रि 11:45 ले लेकर रात्रि 12:15 तक ।

क्या सुप्रीम कोर्ट का फैसला सही है ?

सुप्रीम कोर्ट यानि इस कोर्ट से ऊपर कोई कोर्ट नहीं उसका फैसला क्या सही है । क्या 2 घंटे पटाखे जलने से प्रदुषण रुक जायेगा । प्रदुषण के लिए तो 1 घंटा भी बहुत है । शायद ही कोई ऐसा परिवार होगा जो लगातार पटाखों को जलाने में रूचि रखता हो क्योंकि पटाखे इतने सस्ते तो है नहीं जो लगातार जलाये जाये और जितने पटाखे ख़रीदे हैं उन्हें चाहे 10 घंटे में जला दो या 1 घंटे में फिर किस प्रकार प्रदुषण पर रोक लगेगी ?

Check Also

22 श्रद्धालुओं की हार्ट अटैक से हुई मौत

जम्मू, राज्य ब्यूरो। इस बार बाबा अमरनाथ की यात्रा में श्रद्धालुओं के लिए स्वास्थ्य के …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *