Home » India » 3500 चाइल्ड पॉर्न वेबसाइट ब्लॉक: सुप्रीम कोर्ट से केंद्र

3500 चाइल्ड पॉर्न वेबसाइट ब्लॉक: सुप्रीम कोर्ट से केंद्र

सुप्रीम कोर्ट का तीन तलाक का फैसला महिलाओं के पक्ष में

नई दिल्ली: केंद्र सरकार ने सुप्रीम कोर्ट को बताया कि पिछले महीने 3500 चाइल्ड पॉर्नोग्रफी वेबसाइट को ब्लॉक किया गया है। जस्टिस दीपक मिश्रा की अगुवाई वाली बेंच के सामने केंद्र सरकार ने बताया कि उसने CBSE से स्कूलों के आसपास जैमर लगाए जाने पर विचार करने के लिए कहा है, ताकि बच्चे चाइल्ड पॉर्नोग्रफी वाली वेबसाइट ना खोल सके।

मामले की सुनवाई के दौरान याचिकाकर्ता कमलेश वासवानी की ओर से वकील ने दलील दी कि पॉर्नोग्रफी को बैन किया जाए और किसी भी प्रकार की पॉर्नोग्रफी को बच्चों की पहुंच से दूर रखा जाए। इसके लिए स्कूल परिसर से लेकर अन्य जगहों पर जैमर होना चाहिए और स्कूली बस में भी ऐसी व्यवस्था हो कि बच्चे पॉर्न साइट्स को विजिट न कर सकें। इसके लिए जरूरी है कि पोर्न साइट्स को ब्लॉक किया जाए। वहीं केंद्र सरकार का कहना था कि इस स्थिति से निपटने के लिए ऐसे कई कदम उठाए जा रहे हैं।

अडिशनल सलिसिटर जनरल पिंकी आनंद ने कहा, “स्कूल बसों में जैमर संभव नहीं हैं” । “सरकार ने सीबीएसई को यह विचार करने के लिए कहा है कि स्कूलों में ऐसी जैमर स्थापित किए जा सकते हैं या नहीं जो कि ऐसी वेबसाइटों तक पहुंच को रोक सके।”

कोर्ट ने केंद्र सरकार से कहा है कि वह बाल पोर्नोग्राफी के खतरे को रोकने के लिए उचित कार्रवाई करे और इस पूरे मामले में 2 दिनों में स्टेटस रिपोर्ट दाखिल करे।

Check Also

विलुप्‍त होने के कगार पर केला

केला के विलुप्‍त होने की आशंका सामने नज़र आ रही है जिसके चलते अगले कुछ …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *