Home » India » नवरात्री के 8वें दिन करें माँ महागौरी की आराधना

नवरात्री के 8वें दिन करें माँ महागौरी की आराधना

आज यानि 17 अक्टूबर 2018 दिन बुधवार को नवरात्री का 8वां दिन है और माता महागौरी की आराधना सभी भक्तों के दुखों को दूर करने वाली होगी ।

बुधवार 17 अक्टूबर 2018, महा गौरी की आराधना नवरात्री के 8वें दिन की जाती है । माता का यह रूप उनके शरीर के रंग के कारन है । 4 भुजाओं वाली माता अपने वाहन जोकि एक वृषभ है पर सवार होकर सफ़ेद वस्त्र धारण किये हुए और सफ़ेद आभूषणों से सुसज्जित हैं । माता के शरीर के रंग की तुलना शंख, चंद्र और कुंड के फूल से की जाती है । माता महागौरी की आराधना हर प्रकार के भय दुःख पीड़ा को हरने वाली है ।

माता महागौरी के दाहिनी और की भुजाओं में एक भुजा त्रिशूल धारण किये हुए है और दूसरी भुजा अभय मुद्रा में है जबकि बायीं ओर की भुजाओं में एक भुजा डमरू धारण किये हुए है और दूसरी भुजा वर मुद्रा में है ।

कैसे पड़ा माता का यह नाम ? 

माता पार्वती ने भगवान भोलेनाथ को पति के रूप में पाने के लिए घोर तपस्या की । माता की यह तपस्या कई वर्षों तक चलती रही । कठिन तपस्या के चलते माता का शरीर काला पड़ता चला गया । माता के इस कठिन भक्ति से प्रसन्न होकर भगवान भोलेनाथ ने माता पार्वती को दर्शन दिया और पत्नी रूप में भी स्वीकार किया । माता के त्वचा का रंग देखर भगवान भोलेनाथ ने उन्हें गंगा जी में स्नान करने को कहा । माता पार्वती ने जब गंगा जी में स्नान किया तो उनके शरीर के त्वचा से सारी अशुद्धियाँ धूल  गयीं और माता का रंग अत्यंत गोरा हो गया । माता के इस श्वेत रंग ने ही माता को महा गौरी नाम दिया ।

माता महागौरी
महागौरी का यह रूप भक्तों को निर्भय प्रदान करने वाला है और दुःख हरणी माता महागौरी मनवांछित फल देने वाली हैं ।

 

माता के लिए जाप मंत्र

 

ॐ देवी महागौर्यै नमः॥

 

माता महागौरी की उपासना के लिए मंत्र

 

देवी सर्वभू‍तेषु माँ गौरी रूपेण संस्थिता।
नमस्तस्यै नमस्तस्यै नमस्तस्यै नमो नम:।।

 

माता महागौरी का कवच मंत्र

 

ॐकारः पातु शीर्षो माँ, हीं बीजम् माँ, हृदयो।
क्लीं बीजम् सदापातु नभो गृहो च पादयो॥
ललाटम् कर्णो हुं बीजम् पातु महागौरी माँ नेत्रम्‌ घ्राणो।
कपोत चिबुको फट् पातु स्वाहा माँ सर्ववदनो॥

Check Also

इमरान हैं उदार तो भारत को सौंप दे मसूद अज़हर – सुषमा स्वराज

विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने पाकिस्तान से तब तक किसी बातचीत होने से इंकार किया …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *