Home » India » चिंतामणि मालवीय को सुप्रीम कोर्ट का फैसला नहीं है मंजूर ।

चिंतामणि मालवीय को सुप्रीम कोर्ट का फैसला नहीं है मंजूर ।

भारतीय जनता पार्टी में मंत्री पद पर कार्यरत चिंतामणि को सुप्रीम कोर्ट का आर्डर गले नहीं उतर रहा है ।

मंगलवार 23 अक्टूबर 2018, दीपवाली में दिए जलाएं, खुशियां बांटे, एक दूसरे का सम्मान करें और सबके घर में समृद्धता आए ऐसे सभी के कामना होती है । अगर यह सब स्वतंत्रा के साथ किया जाये तो इसे श्रद्धा के साथ किया जा सकता है । लेकिन अगर यह कहा जाय की आप सिर्फ 2 दिए जलाएं तेल बचेगा, 3 लोगों से ही मिलना हैं नहीं तो स्वाइन फ्लू फैलेगा, घर में ही खुशियां बांटे तो सोंचिये वह त्यौहार कैसा होगा ?

सिर्फ पटाखों से होने वाले प्रदुषण को रोकने के लिए समय सीमा बांधना कहाँ तक उचित है ? बजाय पटाखों की गुणवत्ता और उनके बेचने की मात्रा को नियंत्रित करने के पटाखों को जलाने के लिए समय सीमा बांधना कहाँ तक उचित है ?

चिंतामणि मालवीय नहीं मानेंगे सुप्रीम कोर्ट का आदेश ।

शयद यही बात भारतीय जनता पार्टी के मंत्री चिंतामणि मालवीय के गले नहीं उतर रही और उनके ब्यान के अनुसार उन्होंने सुप्रीम कोर्ट के आदेश के विरुद्ध 10 बजे के बाद ही पटाखे फोड़ने का संकल्प लिया है । चिंतामणि मालवीय का कहना है की पूजा पाठ के समाप्ति के पश्चात ही पटाखे फोड़े जायेंगे ।

Check Also

22 श्रद्धालुओं की हार्ट अटैक से हुई मौत

जम्मू, राज्य ब्यूरो। इस बार बाबा अमरनाथ की यात्रा में श्रद्धालुओं के लिए स्वास्थ्य के …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *