Home » India » जल्द ही देश को मिल सकती है संस्कृत बोलने वाली गाय

जल्द ही देश को मिल सकती है संस्कृत बोलने वाली गाय

भारत में उच्च स्तर पर बैठे लोगों की बड़ी बड़ी बातों से साबित होता है कि पुरे देश में 2019 में आने वाले चुनाव की तैयारी चल रही है ।

गुरुवार 20 सितम्बर 2018, राहुल गाँधी के एक भाषण का काफी उपहास हुआ था और वो था एक ऐसे मशीन का निर्माण करना जो आलू डालने पर सोना निकाले। इस उपहास के बाद राहुल गाँधी ने मध्यप्रदेश में दिए गए अपने भाषण से भारतीय जनता से काफी उपहासित सहानभूति प्राप्त की और वो था “मेड इन भोपाल ” और “मेड इन मध्य प्रदेश ” मोबाइल को भारत में लाना ।

राहुल गाँधी ने कहा था, ” मेरी सरकार के सत्ता सँभालते ही मेड इन चाइना को मिटा कर मेड इन भोपाल और मेड इन मध्यप्रदेश कर देंगे “। राहुल गाँधी अपने भाषणों में विवेक का परिचय न देकर जनता को जल्द से जल्द अपनी ओर आकर्षित करने में जुट जाते हैं ।

अब नित्यानंद स्वामी जी ऐसे ही विवेकहीन वक्तव्यों के चलते सुर्ख़ियों में आ गए हैं । CD सेक्स मामले से सुर्ख़ियों में आए नित्यानंद स्वामी ने अपने एक प्रवचन के दौरान कहा की वो गाय को फर्राटेदार तमिल और संस्कृत भाषा में बोलना सीखा सकते हैं । नित्यानंद स्वामी ने कहा कि अध्यात्म के जरिये वो गायों और बंदरों में बोलने के लिए जरुरी अंगो को डेवलप कर सकते हैं ।

नित्यानंद स्वामी जी का दावा है कि उनकी आध्यात्मिक विद्या ऐसा करने में सक्षम है और प्रायोगिक रूप से वो इसे कर भी चुके हैं । नित्यानंद स्वामी जी का दावा किसी गाय या बन्दर को तमिल अथवा संस्कृत समझाना नहीं बल्कि इन पशुओं में ऐसे अंगों को विकसित करना है जिससे गाय और बन्दर बोल सकें और नित्यानंद स्वामी कि द्वारा दी गयी संस्कृत और तमिल भाषा को अच्छे से ग्रहण कर सकें ।

Check Also

विलुप्‍त होने के कगार पर केला

केला के विलुप्‍त होने की आशंका सामने नज़र आ रही है जिसके चलते अगले कुछ …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *