Home » India » कांग्रेस ने अपने शासन में बाबा भीमराव को नहीं दिया भारत रत्न आखिर क्यों ?

कांग्रेस ने अपने शासन में बाबा भीमराव को नहीं दिया भारत रत्न आखिर क्यों ?

भीमराव आंबेडकर जिन्होंने भारत के संविधान में अपना महत्वपूर्ण योगदान दिया को मरणोपरांत भारत रत्न मिला ।

शनिवार 11 अगस्त 2018, हाल ही में स्वर्गवासी हुए कांग्रेस घटक दल Dravida Munnetra Kazhagam (DMK) के एक नेता करूणानिधि के लिए भारत रत्न दिए जाने की मांग उठी । रामविलास पासवान ने आज सवाल उठाया कि हीरो होरोइन को भारत रत्न तो दे दिया जाता है किन्तु बाबा भीमराव अंबेडकर को कांग्रेस के शासन कल में भारत रत्न के लिए नहीं चुना गया ।

कांग्रेस और घटक दल वैसे तो दलितों के हित के बारे में उस समय बात करते हैं जब विपक्ष को घेरना हो अन्यथा दलितों के विषय में कुछ करना तो दूर सोंचना भी उचित नहीं समझते । चुनाव आते ही राहुल गाँधी रायबरेली में किसी दलित के घर खाना खाने पहुँच जायेंगे किन्तु चुनाव समाप्त होने के बाद शायद ही दलित को याद किया जाता हो ।

दलितों के हित के लिए दलित होना जरुरी है ?

मायावती के ऊपर निशाना साधते हुए रामविलास पासवान ने कहा की मायावती दोहरे मानदंड की राजनीति करती हैं । मायावती की पार्टी दलितों की पार्टी है और दलितों की उथ्थान की लिए पार्टी कार्यरत है फिर भी मायावती की पार्टी दलितों के लिए काम नहीं करती । रामविलास पासवान ने कहा 2007 में मायावती ने दिशा निर्देश जारी किये थे कि अनुसूचित जाति और अनुसूचित जनजाति के लिए बने अत्याचार निवारण कानून के दुरूपयोग से बचने के लिए पहले प्रशासन जाँच करे और आरोप सही पाए जाने पर ही गिरफ़्तारी हो ।

भारतीय जनता पार्टी को बताया दलितों का हितैशी ।

रामविलास पासवान ने देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के कार्यों की तारीफ की । दलितों के सुरक्षा के लिए बनाये गए अत्याचार निवारण कानून को जल्द पारित करने के प्रयासों की भी प्रशंसा की ।

Check Also

विलुप्‍त होने के कगार पर केला

केला के विलुप्‍त होने की आशंका सामने नज़र आ रही है जिसके चलते अगले कुछ …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *