Home » India » सहारनपुर हिंसा: शहर में धारा 144 लागू, इंटरनेट और मोबाइल मैसेज पर लगी रोक

सहारनपुर हिंसा: शहर में धारा 144 लागू, इंटरनेट और मोबाइल मैसेज पर लगी रोक

सहारनपुर हिंसा: शहर में धारा 144 लागू, इंटरनेट और मोबाइल मैसेज पर लगी रोक

सहारनपुर: यूपी के सहारनपुर जिले में मंगलवार को हुए बवाल के बाद तनाव की स्थिति बनी हुई है। हिंसा की घटनाओं को देखते हुए प्रशासन ने मोबाइल कंपनियों को मैसेज व सोशल मीडिया पर रोक लगाने के आदेश दिये हैं। प्रशासन ने पूरे शहर में अलर्ट जारी कर सुरक्षा के इंतजाम कर दिए हैं। हालात को देखते हुए यहां धारा 144 लागू कर दी गई है । सूत्रों से पता चला है कि लोकल इंटेलिजेंस ने सीएम योगी को रिपोर्ट भी सौंप दी है ।

मामले में 24 लोग गिरफ्तार

मामले के खिलाफ कई लोगों पर एफआईआर दर्ज हो गई है और 24 लोगों को गिरफ्तार भी किया गया है । योगी सरकार ने इस हिंसा को गंभीरता से लेते हुए डीएम और एसएसपी को हटा दिया है । जबकि मंडलायुक्त और पुलिस उप महानिरीक्षक के तबादले कर दिए गए हैं ।

यूपी सरकार ने सहारनपुर के डीएम और एसएसपी को हटाया

सहारनपुर हिंसा को गंभीरता से लेते हुए योगी सरकार ने जिले के जिलाधिकारी (डीएम) और वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक (एसएसपी) को हटा दिया, जबकि मंडलायुक्त और पुलिस उप महानिरीक्षक के तबादले कर दिये। प्रमोद कुमार पाण्डेय को नया जिलाधिकारी नियुक्त किया गया है जबकि बबलू कुमार सहारनपुर के नये पुलिस कप्तान बनाये गये हैं। मौजूदा जिलाधिकारी नागेन्द्र प्रताप सिंह को प्रतीक्षारत रखा गया जबकि एसएसपी को पुलिस महानिदेशक लखनउ से संबद्ध कर दिया गया है। सरकारी प्रवक्ता ने भाषा को बताया कि एसएसपी सुभाष चंद्र दुबे और जिलाधिकारी एन पी सिंह को हटाया गया है जबकि मंडलायुक्त एम पी अग्रवाल और पुलिस उप महानिरीक्षक जे के शाही को भी स्थानांतरित किया गया है। जिले से हटाने को लेकर कोई आधिकारिक वजह नहीं बतायी गयी है लेकिन बताया जाता है कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने सहारनपुर के हालात को नियंत्रित नहीं कर पाने को लेकर नाराजगी जतायी, जिसके बाद उक्त अधिकारियों को हटाया गया।

मुख्यमंत्री योगी ने की जनता से अपील

यूपी के मुख्यमंत्री आदित्यनाथ योगी ने प्रदेश की जनता से भड़काऊ बयानों पर ध्यान न देने की अपील की है। मुख्यमंत्री ने कहा कि कुछ लोग प्रदेश के हित में राज्य सरकार द्वारा किए जा रहे प्रयासों को पचा नहीं पा रहे हैं । ऐसे लोग प्रदेश में कायम अमन-चैन के माहौल को खराब करने का प्रयास कर रहे हैं । जनता के सहयोग एवं समर्थन से राज्य सरकार ऐसे तत्वों के मंसूबों को सफल नहीं होने देगी। सरकारी प्रवक्ता के अनुसार मुख्यमंत्री ने कहा कि सहारनपुर की घटना के दोषी लोगों को चिन्हित कर उनके खिलाफ कठोर कार्रवाई की जा रही है।इस सम्बन्ध में लापरवाही करने वाले अधिकारियों की जवाबदेही तय करते हुए उन्हें दण्डित किया जा रहा है।योगी ने कहा कि वर्तमान प्रदेश सरकार किसी जाति, किसी सम्प्रदाय या किसी मजहब का प्रतिनिधित्व नहीं करती, बल्कि ‘सबका साथ, सबका विकास’ की भावना के अनुरूप कार्य करती है।

एक व्यक्ति की मौत हुई थी

सहारनपुर के शब्बीरपुर गांव में बीते पांच मई को दो वर्गो के बीच हिंसा हुई थी। शब्बीरपुर में एक बार फिर जातीय संघर्ष हुआ, जिसमें आशीष नामक युवक की मौत हो गयी तथा कई अन्य घायल हो गये।मायावती ने सहारनपुर हिंसा के लिए भाजपा के नेतृत्व वाली योगी सरकार को जिम्मेदार ठहराया है।

Check Also

गाजियाबाद के लोगों के लिए खुशखबरी

गाजियाबाद के लोगों के लिए खुशखबरी

उत्तर प्रदेश के गाजियाबाद के लोगों के लिए खुशखबरी है। दिल्ली के दिलशाद गार्डन से …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *