Home » India » योगी जी का आदेश, कावड़ियों को दी जाएगी विशेष सुविधा, मंदिर भी होंगे साफ़ सुथरे

योगी जी का आदेश, कावड़ियों को दी जाएगी विशेष सुविधा, मंदिर भी होंगे साफ़ सुथरे

सावन का पूरा महीना आदि देव महादेव की आराधना का महीना होता है । भोले नाथ नीलकंठ महादेव सावन के महीने में अपने भक्तों द्वारा सबसे अधिक पूजनीय होते हैं ।

बुधवार 18 जुलाई 2018, सावन का महीना हो और भक्तों का ताँता महादेव भोलेनाथ के दर्शन के लिए न लगे ये तो असंभव है । बाबा नीलकंठ के दर्शन के लिए हर साल कावड़ियों का समूह भोलेनाथ के दर्शन के लिए मीलों पैदल चलते हैं।

कावड़ियों के सेवा कर बाबा भोलेनाथ का आशीर्वाद पाने के लिए कुछ लोग उनके खाने पिने और ठहरने की व्यवस्था भी करते हैं । प्रशासन की तरफ से भी उनके लिए विशेष इंतज़ाम किये जाते हैं ।

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने निर्देश दिए हैं की कावड़ियों के लिए विशेष सुविधा का इंतज़ाम किया जाये और मंदिरों की साफ सफाई भी राखी जाये । कावड़ियों के जाने वाले मार्ग पर भी विशेष ध्यान देने को कहा गया है और उनको सुरक्षा प्रदान करने के लिए निर्देश दिए गए हैं ।

भगवान भोले नाथ आसुतोष महादेव शिवशंकर की आराधना और उनका आशीर्वाद पाने को हर भक्त सावन की महीने में लालायित रहता है ।

भगवान नीलकंठ महादेव के स्तुति के लिए कुछ श्लोक निचे दिए हैं —

 ———-  ॐ नमः शिवाय ———

नागेन्द्रहाराय त्रिलोचनाय भस्माङ्गरागाय महेश्वराय।
नित्याय शुद्धाय दिगम्बराय तस्मै नकाराय नम: शिवाय ॥

शिवाय गौरीवदनाब्जवृन्द सूर्याय दक्षाध्वरनाशकाय।
श्रीनीलकण्ठाय वृषध्वजाय तस्मै शिकाराय नम: शिवाय ॥

ॐ त्र्यम्बकं यजामहे सुगन्धिं पुष्टिवर्धनम् ।
उर्वारुकमिव बन्धनान् मृत्योर्मुक्षीय मामृतात् ॥

मन्दाकिनीसलिलचन्दनचर्चिताय नन्दीश्वरप्रमथनाथमहेश्वराय।
मन्दारपुष्पबहुपुष्पसुपूजिताय तस्मै मकाराय नम: शिवाय ॥

यक्षस्वरूपाय जटाधराय पिनाकहस्ताय सनातनाय।
दिव्याय देवाय दिगम्बराय तस्मै यकाराय नम: शिवाय् ॥

सदुपायकथास्वपण्डितो हृदये दु:खशरेण खण्डित:।
शशिखण्डमण्डनं शरणं यामि शरण्यमीरम् ॥

महत: परित: प्रसर्पतस्तमसो दर्शनभेदिनो भिदे।
दिननाथ इव स्वतेजसा हृदयव्योम्नि मनागुदेहि न:॥

वसिष्ठकुम्भोद्भवगौतमार्य मुनीन्द्रदेवार्चितशेखराय।
चन्द्रार्कवैश्वानरलोचनाय तस्मै वकाराय नम: शिवायः ॥

भगवान भोले नाथ के 108 नाम इस प्रकार हैं

108 Names of Lord Shiva
S No Name S No Name
1 Aashutosh 55 Nagabhushana
2 Aja 56 Nataraja
3 Akshayaguna 57 Nilakantha
4 Anagha 58 Nityasundara
5 Anantadrishti 59 Nrityapriya
6 Augadh 60 Omkara
7 Avyayaprabhu 61 Palanhaar
8 Bhairav 62 Parameshwara First among all gods
9 Bhalanetra 63 Paramjyoti
10 Bholenath 64 Pashupati
11 Bhooteshwara 65 Pinakin
12 Bhudeva 66 Pranava
13 Bhutapala 67 Priyabhakta
14 Chandrapal 68 Priyadarshana
15 Chandraprakash 69 Pushkara
16 Dayalu 70 Pushpalochana
17 Devadeva 71 Ravilochana
18 Dhanadeepa 72 Rudra
19 Dhyanadeep 73 Rudraksha
20 Dhyutidhara 74 Sadashiva
21 Digambara 75 Sanatana
22 Durjaneeya 76 Sarvacharya
23 Durjaya 77 Sarvashiva
24 Gangadhara 78 Sarvatapana
25 Girijapati 79 Sarvayoni
26 Gunagrahin 80 Sarveshwara
27 Gurudeva 81 Shambhu
28 Hara 82 Shankara
29 Jagadisha 83 Shiva
30 Jaradhishamana 84 Shoolin
31 Jatin 85 Shrikantha
32 Kailas 86 Shrutiprakasha
33 Kailashadhipati 87 Shuddhavigraha
34 Kailashnath 88 Skandaguru
35 Kamalakshana 89 Someshwara
36 Kantha 90 Sukhada
37 Kapalin 91 Suprita
38 Khatvangin 92 Suragana
39 Kundalin 93 Sureshwara
40 Lalataksha 94 Swayambhu
41 Lingadhyaksha 95 Tejaswani
42 Lingaraja 96 Trilochana
43 Lokankara 97 Trilokpati
44 Lokapal 98 Tripurari
45 Mahabuddhi 99 Trishoolin
46 Mahadeva 100 Umapati
47 Mahakala 101 Vachaspati
48 Mahamaya 102 Vajrahasta
49 Mahamrityunjaya 103 Varada
50 Mahanidhi 104 Vedakarta
51 Mahashaktimaya 105 Veerabhadra
52 Mahayogi 106 Vishalaksha
53 Mahesha 107 Vishveshwara
54 Maheshwara 108 Vrishavahana

Check Also

कामरान भी पहुंचा अल्लाह के पास जन्नत का मजा लूटने

मुस्लिम आतंकवादियों के जन्नत में मजा लूटने वालों की लाइन में एक और आतंकवादी जन्नत …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *