Home » Religion

Religion

श्री सरस्वती चालीसा

माँ सरस्वती को विद्या की देवी कहा जाता है। शिक्षा ज्ञान कला इत्यादि से सम्बंधित सभी कार्यों के लिए माँ सरस्वती की उपासना की जाती है। ॥दोहा॥ जनक जननि पद कमल रज, निज मस्तक पर धारि। बन्दौं मातु सरस्वती, बुद्धि बल दे दातारि॥ पूर्ण जगत में व्याप्त तव, महिमा अमित …

Read More »

सोमवार, भगवान भोले नाथ का दिन, जानिए उनके नामों की महिमा

भगवान भोलेनाथ का स्मरण ही कष्टों को हरने वाला होता है । सोमवार की दिन भगवान भोलेनाथ की आराधना का विशेष महत्व है । सोमवार 4 फरवरी 2019 , भगवान भोलेनाथ को हम कई नामों से पुरकारते हैं जैसे नीलकंठ, शिव, शंकर, भूतनाथ इत्यादि । निचे भगवान भोले नाथ के …

Read More »

श्री लक्ष्मी चालीसा

श्री लक्ष्मी चालीसा जय लक्ष्मी माता की ॥दोहा॥मातु लक्ष्मी करि कृपा, करो हृदय में वास। मनोकामना सिद्ध करि, परुवहु मेरी आस॥॥सोरठा॥यही मोर अरदास, हाथ जोड़ विनती करुं। सब विधि करौ सुवास, जय जननि जगदम्बिका॥॥चौपाई॥सिन्धु सुता मैं सुमिरौ तोही। ज्ञान, बुद्धि, विद्या दो मोही॥तुम समान नहिं कोई उपकारी। सब विधि पुरवहु …

Read More »

श्री सूर्य चालीसा

श्री सूर्य चालीसा ॥ दोहा॥ कनक बदन कुण्डल मकर, मुक्ता माला अंग,पद्मासन स्थित ध्याइए, शंख चक्र के संग॥ ॥ चौपाई ॥ जय सविता जय जयति दिवाकर!, सहस्त्रांशु! सप्ताश्व तिमिरहर॥भानु! पतंग! मरीची! भास्कर!, सविता हंस! सुनूर विभाकर॥विवस्वान! आदित्य! विकर्तन, मार्तण्ड हरिरूप विरोचन॥अम्बरमणि! खग! रवि कहलाते, वेद हिरण्यगर्भ कह गाते॥सहस्त्रांशु प्रद्योतन, कहिकहि, …

Read More »

बृहस्पति व्रत कथा

|| बृस्पतिवार व्रत कथा ||   प्राचीन समय की बात है। भारतवर्ष में एक राजा राज्य करता था वह बड़ा प्रतापी और दानी था। वह नित्य गरीबों और ब्राह्‌मणों की सहायता करता था। वह प्रतिदिन मंदिर में भगवान र्दशन करने जाता था परंतु यह बात उसकी रानी को अच्छी नहीं …

Read More »

हनुमान अष्टक

बाल समय रवि भक्षि लियो, तब तीनहुं लोक भयो अंधियारो। ताहि सों त्रास भयो जग को, यह संकट काहु सों जात न टारो।। देवन आनि करी विनती तब, छाँड़ि दियो रवि कष्ट निवारो। को नहिं जानत है जग में, कपि संकटमोचन नाम तिहारो।। बालि की त्रास कपीस बसै गिरि, जात …

Read More »

बजरंग बाण

|| दोहा || निश्चय प्रेम प्रतीति ते, विनय करैं सनमान । तेहि के कारज सकल शुभ, सिद्ध करें हनुमान ॥ जय हनुमन्त संत हितकारी | सुन लीजै प्रभु अरज हमारी || जन के काज बिलम्ब न कीजै | आतुर दौरि महासुख दीजै || जैसे कूदी सिन्धु महि पारा | सुरसा …

Read More »

हनुमान चालीसा

।।दोहा।। श्री गुरु चरण सरोज रज, निज मन मुकुर सुधार | बरनौ रघुवर बिमल जसु , जो दायक फल चारि | बुद्धिहीन तनु जानि के , सुमिरौ पवन कुमार | बल बुद्धि विद्या देहु मोहि हरहु कलेश विकार || ।।चौपाई।। जय हनुमान ज्ञान गुन सागर, जय कपीस तिंहु लोक उजागर …

Read More »

रामचरित मानस (सुन्दरकांड )

  श्रीजानकीवल्लभो विजयते श्रीरामचरितमानस ~~~~~~~~ पञ्चम सोपान सुन्दरकाण्ड श्लोक शान्तं शाश्वतमप्रमेयमनघं निर्वाणशान्तिप्रदं ब्रह्माशम्भुफणीन्द्रसेव्यमनिशं वेदान्तवेद्यं विभुम् । रामाख्यं जगदीश्वरं सुरगुरुं मायामनुष्यं हरिं वन्देऽहं करुणाकरं रघुवरं भूपालचूड़ामणिम्।।1।। नान्या स्पृहा रघुपते हृदयेऽस्मदीये सत्यं वदामि च भवानखिलान्तरात्मा। भक्तिं प्रयच्छ रघुपुङ्गव निर्भरां मे कामादिदोषरहितं कुरु मानसं च।।2।। अतुलितबलधामं हेमशैलाभदेहं दनुजवनकृशानुं ज्ञानिनामग्रगण्यम्। सकलगुणनिधानं वानराणामधीशं रघुपतिप्रियभक्तं वातजातं …

Read More »

आज है देवउत्थान एकादशी, भगवान विष्णु की करें पूजा

भगवान विष्णु का आज रखें व्रत । मधुर वचन और परहेज़ से बने के आज आपके बिगड़े काम । सोमवार 19 नवंबर 2018, आज का दिन बहुत विशेष है और आज के दिन भगवान बिष्णु निंद्रा से जागते हैं । आज के दिन तामसिक भोजन नहीं करना चाहिए । चावल …

Read More »